Uttarakhand Snowfall : उत्तराखंड की वादियां हुईं बर्फबारी से लकदक

38

देहरादून: Uttarakhand Snowfall  उत्तराखंड में गुरुवार देर हुई बारिश और बर्फबारी से जहां एक ओर लोग कड़ाके की ठंड से जूझ रहे हैं। वही दूसरी ओर बर्फबारी का ये नजारा देखने दूर दूर से पर्यटन देवभूमि आ रहे है और बर्फबारी का लुफ्त उठा रहे है।

सम्बंधित समाचार विस्तार से पेज थ्री न्यूज़ पेपर के डिजिटल संस्करण पर भी उपलब्ध

#Digital edition of #E-Paper :-

https://page3news.in/epaper/dehradun/20_Jan/20_Jan_2023.html

PM Modi Mumbai Visit : पीएम ने मुंबई में मेट्रो की दो नई लाइन का किया उद्घाटन

मसूरी में चार दुकान और लाल टिब्बा में मौसम का दूसरा हिमपात हुआ है। धनोल्टी, बुरांशखंडा, सुरकंडा और नागटिब्बा में बर्फबारी हुई है। सुरकंडा, धनोल्टी, चकराता में बर्फबारी हुई है।

Uttarakhand Snowfall

बर्फीली हवाओं से लोग ठंड में ठिठुर रहे हैं। वहीं बर्फबारी (Uttarakhand Snowfall) की खबर लगते ही उत्‍तराखंड के प्रमुख हिल स्‍टेशनों पर सैलानियों का जमावड़ा लगने लगा है। चारधाम में भी बर्फबारी हुई है। चमोली जिले में औली, जोशीमठ, बदरीनाथ, हेमकुंड, रुद्रप्रयाग, चोपता, में बर्फबारी हुई है। रुद्रप्रयाग में केदारनाथ धाम सहित आसपास की चोटियों में ताजा बर्फबारी होने से तापमान माइनस में पहुंच गया है।

गंगोत्री यमुनोत्री धाम सहित ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई है। जिससे की ग्रामीणों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। अधिकांश गांवों का संपर्क भी कट गया है।

उत्तरकाशी श्रीनगर केदारनाथ को जोड़ने वाला मोटर मार्ग भी चौरंगी के पास बर्फबारी के कारण बंद हो गया है। वहीं बीती रात को जौनसार बावर के ऊंचाई वाले ग्रामीण इलाकों में बर्फबारी होने से यातायात संचालन ठप हो गया। लोखंडी समेत आसपास क्षेत्र में मौसम का दूसरा हिमपात होने से मसूरी-चकराता-त्यूणी राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया।

हाईवे पर चकराता से आगे धारनाधार-जाड़ी, लोखंडी-कोटी कनासर के बीच 15 किलोमीटर हिस्से में सड़क पर बर्फ की मोटी परत जम गई है। बर्फबारी के चलते हाईवे बंद होने से सीमांत क्षेत्र के करीब 100 गांवों का सड़क संपर्क तहसील, ब्लाक व जिला मुख्यालय से कट गया है।

केदारनाथ धाम में बारी बर्फबारी के कारण केदारनाथ में चल रहा पुनर्निर्माण कार्य भी पूरी तरह ठप पड़ गए हैं।

वहीं, जनपद के तुंगनाथ, मदमहेश्वर, कालीशिला, पंवालीकांठा, चन्द्रशिला समेत कई ऊंची चोटियों पर भी बर्फ जम चुकी है। ठंड से बचने के लिए नगर निकाय रुद्रप्रयाग के साथ तिलवाडा, अगस्त्यमुनि व ऊखीमठ समेत कई स्थानों पर अलाव भी जलाए हैं।

Joshimath Landslide : CM धामी ने की जोशीमठ में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा

Leave a Reply