750 करोड़ रुपये के घोटाले में घिरी केजरीवाल सरकार

0
140

पैरामेडिकल सेंटर के प्रोजेक्ट खारिज करने की निंदा प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने यह भी कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार ने फरवरी 2014 को नजफगढ़ में 100 बिस्तरों के अस्पताल और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस का शिलान्यास किया था। लेकिन, चार साल बीतने के बाद भी अस्पताल का प्रोजेक्ट पूरा नही हुआ है, जबकि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस का प्रोजेक्ट तो भाजपा की केंद्र सरकार ने खत्म ही कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह नजफगढ़ क्षेत्र की जनता के साथ विश्वासघात है, क्योंकि इसके बनने से हजारों लोगों को रोजगार मिलता, सैकड़ों गरीब विद्यार्थियों को दाखिले मिलते। पूर्व सांसद महाबल मिश्र ने कहा कि इस इंस्टीटयूट के लिए यूपीए सरकार द्वारा एचएलएल (हिंदुस्तान लेटेक्स लिमिटेड) लाइफकेयर लिमिटेड को 86 करोड़ भी अदा किए गए थे। इसमें से छह करोड़ रुपये उस समय इसकी डीपीआर बनाने में खर्च कर दिए गए थे। एचएलएल के पास 80 करोड़ रुपये शिलान्यास के समय से बचे हुए है, जबकि अस्पताल और मेडिकल इंस्टीट्यूट की लागत 245 करोड़ निश्चित की गई थी।]]>

LEAVE A REPLY