मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की डिजिटल प्रेसवार्ता, होंगे अहम एलान

0
364

​​नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को डिजिटल पत्रकार वार्ता के दौरान एलान किया कि लॉकडाउन तो 7 जून से आगे भी एक सप्ताह के लिए जारी रहेगा, लेकिन बाजार खुलेंगे और दिल्ली मेट्रो का संचालन भी शुरू होगा। अरविंद केजरीवाल ने यह भी एलान किया कि सोमवार से दफ्तर खोले जा रहे हैं। सरकारी दफ्तरों में क्लास वन और इससे ऊपर की श्रेणी के अफसर 100 फीसद क्षमता के साथ आएंगे। इससे नीचे का स्टाफ 50 फीसद उपस्थिति दर्ज कराएगा, वहीं, प्राइवेट दफ्तरों में 50 फीसद कर्मचारियों के आने की अनुमति रहेगी। अरविंद केजरीवाल ने सभी प्राइवेट दफ्तरों से अपील की है कि वे अपने कर्मचारियों से वर्क फ्रॉम होम के तहत काम लें।

मुख्यमंत्री ने लिया ईएसआईसी अस्पताल की व्यवस्थाओं का जायजा

डिजिटल पत्रकार वार्ता के दौरान अरविंद केजरीवाल ने कहा कि

कोरोना संक्रमण के मामले अब कम हो गए हैं, संक्रमण दर पिछले कुछ दिनों से एक फीसद से नीचे है। ऐसे में बाजार के जुड़े संगठन बाजार खोले जाने के पक्ष में हैं। तमाम प्रस्ताव उनके पास आए हैं कि सख्त नियमों के साथ बाजार खोले जाने की अनुमति दी जाए। दिल्ली के बाजार एक माह से अधिक समय से बंद हैं। सोमवार सुबह पांच बजे लॉकडाउन समाप्त हाे रहा है। इससे पहले शनिवार को एलजी साहेब के नेतृत्व में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक हुई है। इसमें तय हुआ है कि बाजारों व माल को सख्त नियमों के साथ खोला जाएगा। आधी दुकानें एक दिन और आधी दुकानें दूसरे दिन खुलेंगी। बाजार सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक ही खुलेंगे। इसके बाद Night Curfew लागू हो जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बड़े एलान

ऑड-इवेन के आधार पर खुलेंगी दुकानें
क्लास वन ऑफिसर आएंगे
50 फीसद कर्मचारी के साथ निजी दफ्तर खोले जा सकते हैं।
दिल्ली मेट्रो 50 फीसद पैसेंजर के साथ दौड़ेगी
बाजार सुबह 8 बजे से रात दस बजे तक खुलेंगे।
इसे भी पढ़ेंः DU के कालेजों में पढ़ने वाले इन छात्रों की फीस होगी माफ, विश्वविद्यालय ने मांगी डिटेल्स

दिल्ली-NCR में मौसम विभाग के सभी स्टेशन ऑफलाइन, सीएसई ने बताई वजह

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए शुक्रवार को विशेषज्ञों और फिर अधिकारियों के साथ बैठक की गई थी। इसमें तैयारियों पर चर्चा की गई। बैठक में यह बात सामने आई कि तीसरी लहर आती है तो हमें 37 हजार बेड की जरूरत पड़ेगी। इसी हिसाब से बेड तैयार करेंगे, ऑक्सीजन की उपलब्धता की जाएगी। दिल्ली के लिए 420 मीट्रिक टन ऑक्सीजन तैयार रखी जाए। आपूति के लिए 25 टैंकर खरीदे जा रहे हैं। 64 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। दवाइयों के लिए पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है।

रूद्रपुर एक दिवसीय भ्रमण पर पंहुचे मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत

Leave a Reply