Global Investors Summit 2023 : पीएम बोले- एमपी अजब, गजब और सजग

25

नई दिल्ली। Global Investors Summit 2023  पीएम मोदी ने बुधवार को मध्य प्रदेश में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का शुभारंभ किया। दो दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन इंदौर के ब्रिलियंट क्नेंशन सेंटर में हो रहा है। पीएम मोदी ने वर्चुअली कार्यक्रम को संबोधित किया। मोदी ने कहा कि वर्ल्ड बैंक का मानना है कि भारत के पास अन्य देशों के मुकाबले आर्थिक चुनौतियों से निपटने की क्षमता बहुत अधिक है। जी-20 ग्रुप में इस साल भारत सबसे तेज बढ़ती अर्थव्यवस्था होगी।

Joshimath Crisis : कम मुआवजे को लेकर बढ़ा आक्रोश, धरने पर बैठे स्थानीय लोग

एमपी अजब, गजब और सजग: PM Modi

मोदी ने आगे कहा, “मध्य प्रदेश इन्वेस्टर समिट (Global Investors Summit 2023) के लिए आप सभी निवेशकों और उद्यमियों का स्वागत है। विकसित भारत के निर्माण में मध्य प्रदेश की भूमिका महत्वपूर्ण है। कृषि से लेकर शिक्षा से लेकर सभी क्षेत्रों में एमपी अजब है, गजब और सजग भी है। इन्वेस्टर समिट ऐसे समय में हो रही है जब भारत का अमृत काल शुरू हो चुका है। हम सभी विकसित भारत के लिए जुटे हुए हैं। हम जब विकसित भारत की बात कर रहे हैं तो यह हमारा ही नहीं सभी भारतीयों का संकल्प है।”

डिफेंस, माइनिंग को प्राइवेट क्षेत्रों के लिए खोला

मोदी ने अपने संबोधन में ये भी कहा कि हमने कॉर्पोरेट टैक्स और अन्य कई परेशानियों को व्यवसाय से हटाया है। हमने डिफेंस, माइनिंग और स्पेस जैसे कई क्षेत्रों को प्राइवेट क्षेत्रों के लिए खोल दिया है। कंप्लायंस के बोझ को कम किया गया है। 44 हजार कंप्लायंस को हटाया जा चुका है। हाल ही में नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम शुरू किया गया है। इससे मध्य प्रदेश भी जुड़ा है।

IMF ने की भारत की तारीफ

पीएम ने आगे कहा कि आईएमएफ भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक उज्ज्वल स्थान के रूप में देखता है। विश्व बैंक का कहना है कि भारत कई अन्य देशों की तुलना में वैश्विक विपरीत परिस्थितियों से निपटने के लिए बेहतर स्थिति में है। यह भारत के मजबूत मैक्रोइकॉनॉमिक फंडामेंटल के कारण है। OECD ने कहा है कि भारत इस साल जी-20 समूहों में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल होगा। मॉर्गन स्टेनली के अनुसार, भारत अगले 4-5 वर्षों में दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर बढ़ रहा है।

डेटा के इस्तेमाल, आईटी में नंबर-1 भारत

मोदी ने कहा कि भारत मोबाइल डेटा के उपयोग करने में नंबन वन है। आईटी में नंबर वन है। भारत देश का तीसरा ऑटो मार्केट है। भारत के डिजिटल इंफ्रा के लिए हर कोई विश्वास से भरा हुआ है। भारत एक तरफ गांव-गांव तक ऑप्टीकल फाइबर नेटवर्क पहुंचा रहा है। वह तेजी से 5 जी नेटवर्क का विस्तार कर रहा है। हर व्यक्ति के लिए इंटरनेट आफ थिंग्स और एआइ जो भी इंफ्रा बन रहे हैं वह भारत को गति देंगे। यह सब कोशिश भारत को ताकत देंगे।

देश-विदेश के निवेशक होंगे शामिल

11 और 12 जनवरी को होने वाले इस समिट में 84 देशों के 447 अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि शामिल हो रहे हैं। इसके अलावा, इसमें सभी जी-20 के प्रतिनिधि, 5 हजार से ज्यादा उद्योगपति और प्रतिनिधि भी शामिल होंगे।

दोपहर 2 बजे से शुरू होगा सत्र

समिट के पहले दिन दोपहर दो बजे से एग्रीकल्चर, फूड एंड डेयरी प्रोसेसिंग, फार्मास्युटिकल और हेल्थ केयर, नेचुरल गैस एंड पेट्रो केमिकल्स सेक्टर में अवसर, रिन्यूवल एनर्जी विषय पर सत्र आयोजित होंगे। दोपहर तीन बजे से टेक्सटाइल और गारमेंट विषय पर विशेष सत्र भी होगा। शाम चार से साढ़े 5 बजे तक आईटी, पर्यटन, लॉजिस्टिक एंड वेयर-हाउसिंग, अर्बन एरिया में इंफ्रा-स्ट्रक्चर डेवलपमेंट विषय पर सत्र होंगे।

समिट के दूसरे दिन का शेड्यूल

समिट के दूसरे दिन भी विभिन्न विषयों पर सत्र आयोजित होंगे। सुबह 11 से दोपहर 12 बजे के बीच मध्य प्रदेश से निर्यात की संभावनाएं, सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिए वित्तीय सहायता जैसे कई चीजों पर चर्चा होगी। भारत की पांच ट्रिलियन की इकनॉमी में मध्य प्रदेश का योगदान, एयरो स्पेस और डिफेंस, भारत में मैन्युफैक्चरिंग को गति देने में मध्य प्रदेश का योगदान और शिक्षा और कौशल विकास पर निवेशकों के बीच चर्चा होगी।

Latest Joshimath Sinking : दो जोन में बंटा शहर, अब तक 81 परिवार स्थानांतरित

Leave a Reply