जेटली का बजट व्यापारियों को नहीं लुभा पाया

0
369

आम बजट 2018 व्यापारियों को नहीं लुभा पाया। व्यापारी लग्जरी आइटमों में टैक्स बढ़ाने और अन्य वस्तुओं में भी किसी तरह की कोई छूट नहीं दिए जाने से निराश हैं। व्यापारियों की इन्कम टैक्स में छूट मिलने की मुराद भी बजट में पूरी नहीं हो पाई है।

टीवी, लैपटॉप और मोबाइल महंगे होने से इलेक्ट्रानिक का कारोबार खासा प्रभावित होगा। सरकार एक ओर डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा दे रही है दूसरी ओर मोबाइल फोन और लैपटॉप को महंगे कर इसे हतोत्साहित कर रही है। इससे कारोबार प्रभावित होगा।

स्वदेशी को बढ़ावा मिलने से देश में बढ़ेगे रोजगार के अवसर

विदेशों से मंगाई जाने वाली लग्जरी वस्तुओं पर टैक्स बढ़ाए जाने का फैसला सराहनीय है। इससे विदेशों से आयात हतोत्साहित होगा और स्वदेशी को बढ़ावा मिलेगा। स्वदेशी को बढ़ावा मिलने से देश में रोजगार के अवसर बढ़ेगे।

सोने चांदी के आयात पर तीन प्रतिशत सैस का फैसला कारोबार को प्रभावित करेगा। पूर्व में लिए गए फैसलों से यह कारोबार पहले ही दबाव में है। नए फैसले से कारोबार पर और दबाव बढ़ेगा। इससे इस कारोबार में लगे लोगों को नुकसान होगा। कारोबारियों को कर्मचारियों की संख्या घटानी पड़ेगी।

पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने का फैसला सराहनीय है। इससे तेल मूल्यों में कमी आएगी। आवागमन सस्ता होगा और उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा। महंगाई कम होगी और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

LEAVE A REPLY