Lakhimpur Kheri Nighasan Case: दुष्कर्म के बाद की गई थी बहनों की हत्या

Lakhimpur Kheri Nighasan Case: लखीमपुर खीरी जिले के निघासन थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधवार शाम करीब छह बजे अनुसूचित जाति की दो नाबालिग बहनों के शव पेड़ से लटके मिलने के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। साथ ही गला दबाकर हत्या करने की पुष्टि हुई है। गुरुवार को तीन डॉक्टरों के पैनल ने पोस्टमॉर्टम किया। करीब तीन घंटे तक डॉ राजेन्द्र कुमार, डॉ अर्चना और डॉ शोएब अख्तर ने पोस्टमार्टम किया है। इस दौरान पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई। पोस्टमार्टम के दौरान महिला डॉक्टर और किशोरियों के परिवार के लोग भी मौजूद थे। फिलहाल दोनों बहनों के शवों को परिजनों को सौंप दिया है। शवों को एबुलेंस से गांव में पहुंचा दिया गया है। अब पुलिस मुकदमे में धाराएं बढ़ा सकती है। एससी-एसटी एक्ट की धाराएं मुकदमे में बढ़ाई जा सकती है।

Uttarakhand Weather Update: कुमाऊं मंडल में अगले तीन दिन भारी वर्षा की चेतावनी

क्या है पूरा मामला

निघासन थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधवार शाम करीब छह बजे अनुसूचित जाति की दो नाबालिग बहनों के शव पेड़ से लटके मिले। मां का कहना है कि एक घंटे पहले उनके सामने ही एक पड़ोसी और तीन अन्य युवक उनकी दोनों बेटियों को अगवा कर ले गए थे। दुष्कर्म के बाद हत्या (Lakhimpur Kheri Nighasan Case) का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया गया है।

निघासन में मिले दो बहनों के शव

घटना से गुस्साए परिजनों ने ग्रामीणों के साथ सदर चौराहे पर जाम लगा दिया। आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने आरोपियों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब रात करीब 11 बजे जाम खत्म किया गया। तीन आरोपी दूसरे समुदाय के बताए जा रहे हैं। मां के मुताबिक, चारों आरोपी अचानक घर में घुस आए।

लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह मौके पर

हाथापाई करते हुए वे लोग उनकी 17 और 14 वर्षीय दो बेटियों को उठाकर ले जाने लगे। रोकने पर एक आरोपी ने मां को धक्का देकर गिरा दिया। अन्य आरोपी दोनों बहनों को जबरन बाइक पर लादकर गांव से बाहर भाग गए। इसके बाद आरोपियों की तलाश शुरू की गई।

करीब एक घंटे बाद इसी गांव के ही एक खेत में दोनों बहनों के शव खैर के पेड़ से लटके मिले। बड़ी बहन का शव ऊपर, जबकि छोटी बहन का शव नीचे लटका था। छोटी बहन के घुटने जमीन पर टिके थे। बड़ी बहन हाईस्कूल और छोटी आठवीं में पढ़ती थी।

दो बहनों की मौत मामले में गुरुवार को पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा किया। पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने बताया कि दुष्कर्म के बाद हत्या की घटना को कुल छह लोगों ने अंजाम दिया। नामजद छोटू सहित छह आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं।

आरोपियों की पहचान छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ के रूप में हुई है। पुलिस ने एक अभियुक्त जुनैद को झंडी चौकी क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है, जुनैद के पैर में गोली लगी है। दोनों लड़कियों का पोस्टमार्टम कराया गया। पुलिस ने पॉक्सो और संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस ने चारों आरोपियों को हिरासत में लिया है।

एसपी के मुताबिक, आरोपी लड़कियों को बहला-फुसला खेत में ले गए थे। सभी आरोपी आपस में दोस्त हैं। मुख्य आरोपी छोटे मौके पर मौजूद नहीं था। सुहेल और जुनैद ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात कबूल की है। मुख्य साजिशकर्ता गांव के छोटू ने ही किशोरियों से इनकी दोस्ती कराई थी। लेकिन बुधवार को आरोपी बहला फुसलाकर दोनों लड़कियों को खेत में ले गए और वहां दुष्कर्म किया। इसके बाद दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी। फिर शवों को फंदे से लटका दिया।

SCO Summit 2022: पीएम मोदी और चिनफिंग की मुलाकात पर सस्पेंस

Leave a Reply