PM Ujjwala Yojana 2.0 : की उत्तर प्रदेश के महोबा में शुरुआत

0
242

लखनऊ: PM Ujjwala Yojana 2.0 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल रूप से नई दिल्ली से महोबा से शुरू होने वाले उज्ज्वला 2.0 कार्यक्रम से जुड़े हैं। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश के महोबा में एलपीजी कनेक्शन सौंपकर उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी प्रधानमंत्री का स्वागत किया। इस मौके पर छोटी सी फिल्म भी दिखाई गई।

Chief Minister Vatsalya Yojana: की रेखा आर्या ने की समीक्षा

रक्षाबंधन से पहले ही माताओ-बहनों का आशीर्वाद मिला: PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे आज रक्षाबंधन से पहले ही माताओ-बहनों का आशीर्वाद मिला। आज PM Ujjwala Yojana 2.0 दूसरे चरण में देश की लाखों माताओं-बहनों को एलपीएजी कनेक्शन तथा गैस चूल्हा मिल रहा है। उज्ज्वला योजना ने देश के जितने लोगों और महिलाओं का जीवन रोशन किया है, वो अभूतपूर्व है। योजना 2016 में उत्तर प्रदेश के बलिया से आजादी की लड़ाई के अग्रदूत मंगल पांडे की धरती से शुरू हुई थी। आज उज्ज्वला का दूसरा संस्करण भी उत्तर प्रदेश के ही महोबा की वीरभूमि से शुरू हो रहा है। उन्होंने कहा कि देश में उज्जवला योजना की पहली योजना देश की आजादी के नायक मंगल पाण्डेय की कर्मस्थली बलिया में 2016 से शुरू की गई। आज इसका दूसरा चरण उत्तर प्रदेश की ही एक वीर भूमि महोबा से शुरू हो रहा है। आज मुझे बुंदेलखंड के महानायक मेजर ध्यान चंद को याद कर गर्व महसूस हो रहा है। दद्दा के नाम पर हमने खेल का शीर्ष पुरस्कार किया तो हमको लाखों खेल प्रेमियों की प्रतिक्रिया मिली।

बूंदी देवी के योगदान को पीएम मोदी ने सराहा

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर देहरादून की बूंदी देवी ने संवाद किया। बूंदी देवी ने बताया कि घर में जब तक एलपीजी नहीं था तो जीवन बेहद कष्ट वाला था। हम तो जंगल से लड़की लाकर खाना बनाते थे। कभी गीली लड़की होने पर जलती नहीं थी, आंख में आंसू आते थे, लेकिन समय पर खाना नहीं बनता था। अब गैस मिलने के बाद समय भी बचता है। हमने एक गाय पाली है और दूध का काम शुरू किया है। अब मैं अपने पिता की भी सेवा करती हूं। अब तक हमने 22 गैस सिलिंडर रिफिल कराया है।

बुंदेलखंड बदल रहा, नारी गरिमा और सुरक्षा में प्रदेश ने गढ़ा कीर्तिमान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उज्ज्वला-2.0 के शुभारंभ मौके पर कहा कि वीरभूमि महोबा से बुंदेलखंड की बदलती तस्वीर पूरा देश देख रहा है। एक्सप्रेस-वे नई इबारत लिखने को तैयार है। झांसी व चित्रकूट में डिफेंस कॉरिडोर को लेकर काम काफी आगे बढ़ चुका है। कानपुर, अलीगढ़ व लखनऊ में भी काम तेज किया गया है। वर्षों से पानी के लिए अभिशप्त बुंदेलखंड में प्रधानमंत्री ने हर घर नल जल योजना से नया कीर्तिमान गढ़ने की तरफ बढ़ रहा है। जल्द सबको शुद्ध पानी घर-घर मिलेगा। सिंचाई के लिए महोबा की अर्जुन सहायक, बंडई समेत अन्य परियोजनाओं का काम अंतिम चरण में है। इसके बाद पेयजल व सिंचाई संकट बुंदेलखंड से खत्म हो जाएगा।

PM Ujjwala Yojana 2.0 : के कारण अब प्रदेश में 3.25 करोड़ गैस कनेक्शन

कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला गैस कनेक्शन योजना के कारण अब प्रदेश में 3.25 करोड़ गैस कनेक्शन हो गए हैं, जबकि पहले यह 1.47 करोड़ ही थे। इससे केरोसिन की खपत कम होने से प्रदेश को 2020 में 17 करोड़ का लाभ हुआ, जबकि 2021 में 22 करोड़ का फायदा होने जा रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर नारी शक्ति को प्रोत्साहन देने के लिए प्रधानमंत्री का आभार प्रकट करने के साथ ही कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के बड़े विजन के कारण ही आज कम समय में ही उत्तर प्रदेश की बड़ी आबादी उज्जवला योजना का लाभ ले रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 2016 तक एक करोड़ एलपीजी कनेकशन थे और आज तीन करोड़ 25 लाख घरों में उज्जवला योजना के तहत कनेक्शन मिला है। वर्ल्ड फयूल डे पर आज भी बड़ी संख्या में परिवार लाभांवित होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इतनी बड़ी संख्या में एलपीजी कनेक्शन मिलने के कारण हमने मिट्टी के तेल की खपत में होने वाले धन को बीते वर्ष 15 करोड़ रुपया के रूप में बचाया है। इस बार हम 25 करोड़ रुपया तक बचा लेंगे।

पहली रिफिल और हॉटप्लेट मुफ्त

उज्जवला 2.0 के लाभार्थियों को डिपॉजिट फ्री एलपीजी कनेक्शन के साथ पहली रिफिल और हॉटप्लेट मुफ्त दी जाएगी। साथ ही न्यूनतम कागजी कार्रवाई की जरूरत होगी। उज्ज्वला 2.0 में लोगों को राशन कार्ड या एड्रेस प्रूफ जमा करने की जरूरत नहीं होगी। आवेदक योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2021 के लिए अपनी पसंद के किसी भी वितरक को या तो वितरक के पास आवेदन जमा करके या ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से एप्लीकेशन देकर कर सकते हैं। इस बार आपको कई विकल्प दिए गए हैं। आप चाहे तो अपनी पसंद के वितरक चुन सकते हैं, जैसे इंडेन, भारतगैस या एचपी गैस में से कोई भी ए

 

2016 में हुई योजना की शुरुआत

साल 2016 में शुरू उज्ज्वला योजना के दौरान गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले परिवारों की 5 करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार किया गया और इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया। लक्ष्य को संशोधित कर 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया। इस लक्ष्य को निर्धारित तिथि से सात महीने पहले अगस्त 2019 में ही हासिल कर लिया गया था।

Uttaranchal Women’s Association: द्वारा आयोजित कार्यक्रम में CM ने किया प्रतिभाग

Leave a Reply