Uttarakhand Weather: 17 सितंबर के लिए जारी हुआ बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट

देहरादून: Uttarakhand Weather मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार अगले तीन दिन प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में भारी वर्षा को लेकर आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

Accident in ahmedabad: इमारत की लिफ्ट गिरने से 7 मजदूरों की मौत

भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी

17 को भारी से बहुत भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान कहीं-कहीं गर्जन के साथ तेज बौछारें और आकाशीय बिजली चमकने की आशंका है।

भूस्खलन और चट्टान खिसकने का खतरा

पर्वतीय जिलों में भूस्खलन और चट्टान खिसकने का खतरा है। नदी-नालों के उफान पर आने से आसपास के लोगों को खतरा पैदा हो सकता है।

वहीं आज देहरादून (Uttarakhand Weather) में तड़के से बादल छाए हुए हैं और तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। ऋषिकेश, पौड़ी और कोटद्वार में भी बुधवार तड़के बारिश हुई।

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद बुधवार को स्कूलों में अवकाश

मौसम विज्ञान विभाग के अलर्ट के बाद चमोली के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने बुधवार को जनपद में संचालित सभी स्कूलों में अवकाश घोषित किया गया है। मौसम विभाग का पुवार्नुमान है कि जिले में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

जौनसार-बावर में जगह-जगह भूस्खलन से दस मार्ग बंद

जौनसार-बावर में जगह-जगह भूस्खलन की वजह से मलबा रोड पर आने से दस मोटर मार्गों पर आवागमन ठप हो गया। कई सड़कों की सुरक्षा दीवार भी क्षतिग्रस्त हो रखी है, जिससे काफी समय से आवागमन प्रभावित है। मार्गों पर आवागमन प्रभावित होने से जगह-जगह उपज से भरे वाहन फंसे होने से किसान परेशान दिखाई दिए।

भूस्खलन से लोनिवि चकराता के सात, लोनिवि साहिया के दो व पीएमजीएसवाई का एक मार्ग बंद होने पर ग्रामीणों का जनजीवन प्रभावित हुआ है। भूस्खलन से लोनिवि चकराता के अंतर्गत माख्टी-पोखरी ककनोई, खारसी, सावरा-छाछुवा खेड़ा, कोटी-बावर मोटर मार्ग, मेघाटू म्यूंडा, अटाल सैंज, कोटी-कनासर रजाणू मोटर मार्ग बंद हो गए।

इन मार्गों पर कई स्थानों पर पहाड़ से मलबा गिरा है। इसी तरह से लोनिवि साहिया के अंतर्गत काहा-नेहरा पुनाहा मोटर मार्ग बंद हो गया है। महासू देवता थैना संपर्क मार्ग पर सुरक्षा दीवार धराशाई होने की वजह से पिछले काफी समय से आवागमन प्रभावित है।

विभाग ने सुरक्षा दीवार लगाने का कार्य शुरू कराया, लेकिन आवागमन पूरी तरह से सुचारू होने में अभी भी समय लगना तय है। पीएमजीएसवाई का बोसान बैंड मोटर मार्ग पर मलबा आने से यातायात प्रभावित रहा। जिस कारण जगह-जगह कृषि उपज अदरक, मूली, गागली, टमाटर, फूल गोभी, हरी मिर्च आदि उपज से भरे वाहन फंसे रहने पर किसान परेशान रहे।

उधर, लोनिवि साहिया के अधिशासी अभियंता प्रत्युष कुमार, लोनिवि चकराता के अधिशासी अभियंता एमएस बेलवाल, पीएमजीएसवाई कालसी के अधिशासी अभियंता राजेंद्र कुमार टम्टा के अनुसार सड़कों पर आए मलबे को हटाने को जेसीबी लगाई गई है। तेज गति से कार्य किया जा रहा, ताकि आवागमन में कोई परेशानी न हो।

Patanjali Ayurved Nim and I.M.F. के संयुक्त अभियान दल का CM ने किया फ्लैग ऑफ

Leave a Reply