उत्तराखंड के लिए गौरव का पल, मसूरी का सेवॉय होटल देश का है सबसे पहला होटल

0
8574

ये डाक्यूमेंट्री मसूरी के सेवॉय होटल की है इसे दादासाहेब फाल्के अवार्ड मिला है, लॉक डाउन के चलते इसके बारे में काफी कम लोगों को पता है,

इस खबर को सुनते ही आपको उत्तराखंड पर गर्व होगा, ये सच है,दरअसल आपको यह बता दे कि मसूरी में  स्थित सेवॉयहोटल देश का सबसे पहला होटल है, इसका इतिहास भी काफी लम्बा और दिलचस्प है
अगर हम भारत के होटलो की बात करे  तो ‘द सेवाय’ देश का सबसे पहला होटल है। वर्ष 1808 में बना ये होटल जिसमे सिर्फ अंग्रेजों के सिवाए किसी और को आने की  परमिशन नहीं थी लेकिन बाद में इसमे कई लोग गए।   हालहि में इस पर बनी एक नई डॉक्यूमेंट्री फिल्म भारत समेत विश्वभर में खूब पसंद की जा रही है

ये भी पढ़े:- मुख्यमंत्री का निधन, निकली अफवाह मुकदमा दर्ज

इस होटल में लगभग 40 से 50 कमरें और 2 रेस्टोरेंट हैं। जहां आज कई रॉयल शादिया और फिल्मो की शूटिंग होती है. होटल सेवॉय का इतिहास और इसकी सुंदरता से प्रभावित होकर इसके संचालक किशोर काया ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनवाई ‘सेवॉय: सागा ऑफ एन आइकन’ जिसे  1 मई को दादासाहेब फालके का बेस्ट डॉक्यूमेंट्री और सिनेमेटोग्राफी अवार्ड से नवाजा गया।इसमें मशहूर लेखक गणेश शैली ने  इसकी Scripting की है, जबकि Direction क्षितिज शर्मा और जया डे ने किया है और सिनेमेटोग्राफी अभिषेक नेगी की है

ये भी पढ़े: छूट मिलने पर एक दिन में 1 करोड़ 34 लाख की शराब गटक गए दूनवासी

डॉक्यूमेंट्री के निर्माता किशोर काया ने बताया कि वर्ष 2004 से इस होटल का संचालन स्वयं कर रहे हैं।जब उन्होंने होटल के इतिहास को जाना तो उन्हें बेहद गर्व महसूस हुआ उन्होंने बताया कि होटल में इतिहास से जुड़े तमाम दस्तावेज उनके पास ही पड़े हैं। अंग्रेजो की हुकूमत से लेकर आजाद देश के विकास में होटल की भूमिका नहीं भूलाई नहीं जा सकती है। बताया जाता है कि इसमें मोतीलाल नेहरू, जवाहरलाल नेहरू से लेकर देश की जानी मानी हस्तियों जाना- आना था समर कैपिटल के रूप में अंग्रेज इसका इस्तेमाल करते थे लेकिन अफ़सोस! है की उस समय भारतीयों को इसमें प्रवेश नहीं करने दिया जाता था लेकिन बाद में कई भारतीय वहां गए।
1920 की अफगानी कॉन्फ्रेंस भी यही हुई थी, तो वही पंजाब के राजा महाराजा रणजीत सिंह जब यहां आए तो इस होटल के कायल हो गए। जवाहरलाल नेहरू 1906 में यहाँ आये थे तब वह 16 साल के थे राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने भी इस होटल की तारीफ की है।

Breaking:-लॉकडाउन में छूट के बीच एक और कोरोना पॉजिटिव केस कन्फर्म

वैसे अभी तक माना जाता रहा था की होटल ताज सबसे पुराना है लेकिन सेवॉय के इतिहास पर बनी डॉक्यूमेंट्री को दादासाहेब फालके को बेस्ट डॉक्यूमेंट्री अवार्ड मिलने के बाद इसके सबसे पुराने होने के इतिहास पर मुहर लग गई है,

देखिये डॉक्यूमेंट्री का ट्रैलर;

 

LEAVE A REPLY