अब 62 साल की उम्र में रिटायर होंगे कर्मचारी: शिवराज

0
245

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने चुनावी साल में कर्मचारियों की नाराजगी दूर करने के लिए मास्टर स्ट्रोक लगाते हुए सेवानिवृत्ति की आयु दो साल बढ़ाने का फैसला किया है। अब प्रदेश में अधिकारी और कर्मचारी 60 की जगह 62 साल में सेवानिवृत्त होंगे। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने पदोन्नति में आरक्षण के मुद्दे पर पूछे सवाल के जवाब में की।

चैहान ने कहा, सुप्रीम कोर्ट में मामला लंबित होने से पदोन्नति रुकी है। यही वजह है कि हम प्रदेश में कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 60 से बढ़ाकर 62 कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि पिछले डेढ़ माह से इसको लेकर मंथन चल रहा है। अब इसको लेकर सामान्य प्रशासन विभाग कैबिनेट में प्रस्ताव लाएगा। मई 2016 से प्रदेश में पदोन्नतियां रुकी हुई हैं। सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ाने से सरकार को सेवानिवृत्ति होने वाले कर्मचारियों को किए जाने वाले भुगतान का भार अभी वहन नहीं करना होगा। साथ ही कर्मचारियों की नाराजगी भी कुछ कम होगी।

पत्रकार संदीप शर्मा के परिजनों को दो लाख की मदद

मुख्यमंत्री ने कहा कि भिंड में पत्रकार संदीप शर्मा की मृत्यु के मामले की पुलिस जांच कर रही है। सीबीआइ को जांच सौंपने के आदेश दे दिए हैं। शर्मा के परिजनों को दो लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। वहीं, उनके बच्चों की पढ़ाई का खर्च भी सरकार उठाएगी।

LEAVE A REPLY