उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षा निरस्त, आदेश हुए जारी

0
95

देहरादून। Uttarakhand Board Exam कोरोना महामारी की वजह से उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षा निरस्त कर दी गई हैं। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने शुक्रवार को इस संबंध में आदेश जारी किए। 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित करने के लिए बोर्ड वस्तुनिष्ठ मानदंड तय करेगा। इस मानदंड के आधार पर प्राप्त अंकों से से संतुष्ट नहीं होने पर छात्र को स्थिति सामान्य होने पर परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाएगा।

डीजल-पेट्रोल के बढ़ते दाम के खिलाफ केंद्र सरकार पर हल्ला-बोल

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने इस संबंध में घोषणा

उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षाओं को सीबीएसई की तर्ज पर निरस्त करने का निर्णय सरकार ने लिया था। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने इस संबंध में घोषणा की थी। सचिव ने इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों, शिक्षा महानिदेशक, माध्यमिक शिक्षा निदेशक, बोर्ड सचिव और विभाग के सभी अपर व संयुक्त निदेशकों और मुख्य शिक्षाधिकारियों को आदेश जारी किया है।

25 अप्रैल को आदेश जारी कर बोर्ड की 12वीं की परीक्षा स्थगित

इससे पहले शासन ने बीती 25 अप्रैल को आदेश जारी कर बोर्ड की 12वीं की परीक्षा स्थगित की थीं। आदेश में एक जून को कोविड की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर परीक्षा की नई तिथियां तय करने का जिक्र किया था। शिक्षा सचिव ने आदेश में यह भी कहा कि परिस्थितियां सामान्य होने की सूरत में बोर्ड ने यदि परीक्षा कराई तो परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट छात्र को परीक्षा में बैठने का अवसर दिया जाएगा।

कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर स्थितियां सामान्य नहीं रहने की स्थिति में बोर्ड के पास परीक्षा नहीं कराने का विकल्प भी रहेगा। उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में 1.22 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय तृणमूल कांग्रेस में हुए शामिल

LEAVE A REPLY