उत्तराखंड में केदारनाथ समेत ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी

0
309

देहरादून। उत्तराखंड में केदारनाथ समेत ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी है। इससे मैदानी इलाकों में भी ठिठुरन काफी बढ़ गई है। वहीं, राज्य के कुछ हिस्सों में ओलावृष्टि के भी आसार बन रहे हैं। मौसम विभाग ने इसे लेकर चेतावनी जारी की है। इस बीच उच्च हिमालयी क्षेत्रों में लगातार दो दिन से रुक-रुककर चल रहे हिमपात का सिलसिला थम गया है। चारों धाम के साथ ही पर्वतीय इलाकों में बादल छाए हुए हैं। इधर, दून समेत अन्य मैदानी इलाकों में धूप की आंख मिचौनी जारी है और दिन के समय भी कंपकंपी बढ़ गई है।

वीके पॉल ने मुख्यमंत्रियों को कोरोना वैक्‍सीन पर दिखाया एक प्रजेंटेशन

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार

उत्तराखंड में केदारनाथ को मैदानी इलाकों में सुबह से ही बादल छाए रहे। सर्द हवा ने ठिठुरन बढ़ा दी है। चमोली जिले का जोशीमठ और कुमाऊं का अल्मोड़ा प्रदेश में सर्वाधिक ठंडे रहे। यहां न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, बुधवार को उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले इलाकों में भी बर्फ के साथ बारिश की भी संभावना है।

औली में उमड़े सैलानी

गोपेश्वर (चमोली): ताजा बर्फबारी के बाद चमोली के प्रसिद्ध शीतकालीन क्रीड़ा स्थल औली में सैलानियों का तांता लग गया। रविवार और सोमवार को हुए हिमपात के बाद औली की ढलाने बर्फ से लकदक हैं। यहां पहाड़ियों पर आधा फीट बर्फ है। मंगलवार को दो सौ से अधिक सैलानी औली पहुंचे और कुदरत के हसीन नजारों का दीदार किया। कोरोना संक्रमण के दौरान मार्च में बंद हुआ औली अक्टूबर में सैलानियों के लिए फिर से खोल दिया गया, लेकिन इस बीच पर्यटकों की संख्या सीमित ही रही।

कुम्भ मेले में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा से सम्बन्धित व्यवस्थाओं पर की चर्चा

LEAVE A REPLY