जानें … उत्तराखंड को पालीथिन मुक्त राज्य बनाने के लिए क्या करने जा रही सरकार

0
404

देहरादून। राज्य सरकार उत्तराखंड को पॉलीथिन मुक्त राज्य बनाने के लिए चलायेगी जन जागरूकता अभियान। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में दौड़वाला, देहरादून में मिशन रिस्पना से ऋषिपर्णा के लिए वृक्षारोपण के लिए गड्ढे तैयार किये गये। रिस्पना और कोसी नदी के किनारे जन सहयोग से एक दिन में लगाये जायेंगे 3.5 लाख वृक्ष। मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री आवास में भी किया वृक्षारोपण। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री दौड़वाला, देहरादून में मिशन रिस्पना से ऋषिपर्णा के अन्तर्गत वृक्षारोपण हेतु गड्ढे तैयार किये गये। गौरतलब है कि मिशन ऋषिपर्णा के अन्तर्गत रिस्पना के उद्गम लण्ढ़ौर शिखर फॉल से मोथरोवाला-दौड़वाला तक कुल 32 किमी क्षेत्र में विभिन्न प्रजाति के 2.5 लाख वृक्ष लगाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि रिस्पना से ऋषिपर्णा सरकार का दीर्घकालिक एवं महत्वाकांक्षी अभियान है। इस मिशन में स्थानीय लोगों के अलावा विभिन्न सरकारी तथा गैरसरकारी संगठनों, संस्थाओं एवं अन्य प्रदेशों के लोगों का सहयोग भी मिल रहा है। रिस्पना एवं कोसी के पुनर्जीवीकरण के लिए हरेला पर्व के दौरान एक दिन निर्धारित कर 3.5 लाख पौधे लगाये जायेंगे। वृक्षारोपण का यह कार्य पूर्ण रूप से जन सहयोग से किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रारम्भिक चरण में रिस्पना एवं कोसी नदी को पुनर्जीवित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके बाद अन्य जल स्रोतांे को भी पुनर्जीवित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण का संरक्षण, हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है। वर्ष-2018 में विश्व पर्यावरण दिवस की मेजबानी भारत कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्लास्टिक मुक्त भारत का जो आह्वाहन किया है, उसमें सबका सहयोग जरूरी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 31 जुलाई से उत्तराखंड में पॉलीथिन पूर्ण रूप से प्रतिबन्धित की जायेगी। सभी पॉलीथिन के थोक विक्रेताओं को इससे पूर्व पॉलीथिन का स्टॉक समाप्त करने के लिए कहा गया है। उन्होंने कहा कि इससे एक सप्ताह पूर्व पूरे प्रदेश में पॉलीथिन से होने वाले पर्यावरणीय नुकसान पर व्यापक स्तर पर जन जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। उत्तराखण्ड को पॉलीथिन मुक्त राज्य बनाने के लिए सामाजिक संगठनों के अलावा जन सहयोग आवश्यक है। जिलाधिकारी एस.ए. मुरूगेशन ने बताया कि लंढ़ौर शिखर फॉल से मोथरोवाला-दौड़वाला तक तक वृक्षारोपण के लिए 39 ब्लॉक बनाये गये हैं। सम्पूर्ण क्षेत्र में अनेक प्रजाति के वृक्ष लगाये जायेंगे। इसमें 30 प्रतिशत फलदार वृक्ष लगाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि इस मिशन में सबका अच्छा सहयोग मिल रहा है। इस अवसर पर भाजपा महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, गढ़वाल राईफल के जवानों एवं स्थानीय लोगों ने भी दौड़वाला में वृक्षारोपण के लिए गड्ढे तैयार किये। मुख्यमंत्री ने इसके उपरान्त मुख्यमंत्री आवास में भी वृक्षारोपण किया। उन्होंने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर लीची, अनार, अमरूद, आडू, प्लम, नाशपाती के उच्च गुणवत्ता के पौधे लगाये।]]>