स्वामी यतीश्वरानन्द द्वारा दिये महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

0
144

देहरादून: प्रदेश के भाषा, पुनर्गठन, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कोविड-19 व्यवस्थाओं के प्रभारी मंत्री उत्तरकाशी स्वामी यतीश्वरानन्द द्वारा विधानसभा कक्ष से जिला प्रशासन तथा जनपद स्तरीय अधिकारी उत्तरकाशी की वर्चुवल माध्यम से बैठक लेते हुए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये।

बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे के बाद जगह-जगह हिंसा

मानवीय तथा गैर मानवीय संसाधनों की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त

मा0 मंत्री द्वारा सर्वप्रथम जिलाधिकारी उत्तरकाशी से जनपद में कोरोना महामारी के संक्रमण की वर्तमान स्थिति, विभिन्न अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था, आईसीयू बैड, आक्सीजन बैड से लेकर दवाईयों, चिकित्सा सहायक उपकरणों, एम्बुलेन्स तथा दूरस्थ क्षेत्रों में कोरोना टेस्टिंग और टीकाकरण हेतु तैनात मोबाईल टीमों तथा अन्य मानवीय तथा गैर मानवीय संसाधनों की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की गई। स्वामी यतीश्वरानन्द इसके अतिरिक्त यमनोत्री विधायक केदार सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष उत्तरकाशी प्रदीप बिजल्वाण तथा अन्य स्थानीय प्रतिनिधियों से भी वर्चुवल माध्यम से कोरोना महामारी के उपचार व संसाधनों की वस्तुस्थिति की फिडबैक लेते हुए उनके द्वारा सुझाये गये महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर भी जिला प्रशासन उत्तरकाशी को सज्ञान लेते हुए कोरोना महामारी से निपटने के लिए बेहतर व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिये।

वैक्सीन के टीकाकरण की यथासम्भव व्यवस्था करने के निर्देश दिये ताकि

मा0 मंत्री ने दूरस्थ क्षेत्रों के लोगो को कोरोना के उपचार हेतु स्थानीय पीएचसी, न्याय पंचायत व ग्राम पंचायत स्तर पर ही ईलाज, आवश्यक दवाईयों, पीपीई किट, आक्सीजन बैड की आपूर्ति, कोरोना टेस्टिंग, वैक्सीन के टीकाकरण की यथासम्भव व्यवस्था करने के निर्देश दिये ताकि दूरस्थ क्षेत्र के लोगो को लाकडाउन जैसे स्थिति में ईलाज हेतु शहर की ओर आने की परेशानी ना उठानी पडे साथ ही आवागमन के चलते सोशल डिस्टेन्सिंग भी बाधित न हो तथा वयोवृद्ध लोगों को लोकल स्तर पर ही टीकाकरण उपलब्ध हो। मा0 विधायक यमुनोत्री केदार सिंह रावत तथा जिला पंचायत अध्यक्ष उत्तरकाशी प्रदीप बिजल्वाण ने भी स्थानीय स्तर पर ही कोरोना के इलाज की व्यवस्था के साथ-साथ टीकाकरण को भी विकेन्द्रियकृत तरीके से सम्पादित करने का सुझाव देते हुए ग्राम पंचायत, न्याय पंचायत व ब्लाक स्तर पर ही सार्वजनिक भवन को कोविड-19 के ईलाज हेतु चिन्हित व स्थापित करने को कहा।

उत्तरकाशी के विभिन्न विभागीय अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि

मा0 मंत्री ने जिला प्रशासन तथा स्वामी यतीश्वरानन्द उत्तरकाशी के विभिन्न विभागीय अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि इस बात को सुनिश्चित किया जाय कि किसी भी विभाग अथवा अधिकारी की लापरवाही के चलते किसी भी कोरोना पेशेन्ट की जान नही जानी चाहिए तथा कोरोना के किसी भी संभव ईलाज में कोई भी कोर-कसर नही रहनी चाहिए। उन्होने कहा कि सरकार के पास समुचित संसाधन उपलब्ध है तथा किसी भी प्रकार की डिमांड समय से दी जाय। उन्होने लोगो की सुविधाओं तथा उनकी काउंसलिंग हेतु प्रत्येक ब्लाक स्तर पर टोल फ्री नम्बर जारी करने को कहा जिस पर 24 घण्टे संज्ञान लेते हुए सामने आने वाली शिकायतों का त्वरित समाधान करने के निर्देश दिये। उन्होने दवाई से लेकर आक्सीजन तथा किसी भी तरह के सहायक मेडिकल उपकरण की किसी भी तरह की कालाबजारी की शत प्रतिशत रोकथाम करने तथा आक्सीजन सिलेन्डरों की निर्बाद आपूर्ति तथा उसको तत्काल भरवाने हेतु कन्सल्टेन्ट की नियुक्ति करने के भी निर्देश दिये।

इस अवसर पर विधानसभा कक्ष में मा0 मंत्री जी के साथ विधायक यमुनोत्री केदार सिंह रावत उपस्थित थे तथा वर्चुवल माध्यम से उत्तरकाशी से जिलाधिकारी मयूर दीक्षित, पुलिस अधीक्षक, जिला पंचायत अध्यक्ष, मुख्य चिकित्सा अधिकारी आदि उत्तरकाशी जनपद के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

उत्तर प्रदेश में गुरुवार तक बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू

LEAVE A REPLY