सफाई कर्मचारियों के वेतन में कटौती के विरोध में कांग्रेस का धरना

0
120

देहरादून। सफाई कर्मचारियों, पर्यावरण मित्रों के वेतन में कटौती किये जाने के विरोध मंे महानगर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर धरना दिया और कहा कि वेतन में कटौती की गई तो आंदोलन को तेज किया जायेगा।

यहां महानगर कांग्रेस कमेटी से जुडे हुए कार्यकर्ता महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा के नेतृत्व में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में इकटठा हुए और सफाई कर्मचारियों, पर्यावरण मित्रों के वेतन में  कटौती किए जाने का विरोध करते हुए प्रदर्शन कर धरना दिया। इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने कहा कि नगर निगम द्वारा कोरोना महामारी के चलते नगर निगम के सफाई कर्मियों के एक दिन का वेतन काटने के आदेश जारी हुए है, जो कि न्याय संगत नहीं होता है तथा महानगर कांग्रेस  इस फैसले का पुरजोर विरोध करती है।

इसे भी पढ़ सकते हैं :-समस्यायें जिनका कोविड-19 के बाद स्कूल सामना कर रहे हैं

उन्होंने कहा कि जिन सफाई कर्मचारियों ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड 19 की विभीषिका में अपनी व अपने परिवार की जान जोखिम में डालते हुए नियमित रूप से अपने कर्तव्यों का पालन किया, परन्तु नगर निगम प्रशासन द्वारा उन्हें पारितोषिक एवं प्रोत्साहन राशि दिये जाने के बजाय उनका एक दिन का वेतन काटा जा रहा है जो कि तर्क संगत नहीं है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी नगर निगम प्रशासन के इस निर्णय का विरोध करती है तथा मांग करती है कि सफाई कर्मियों के वेतन में कटौती करने की बजाय उन्हें प्रोत्साहन राशि दे। उन्होंने कहा कि वेतन में कटौती करनी है तो दर्जाधारियों के वेतन से किया जाये। इससे पूर्व  लालचन्द शर्मा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर मांग की थी कि सफाई कर्मियों के वेतन में कटौती न की जाय परन्तु सरकार अपने फैसले पर अड़ा हुआ है जिससे मजबूर हो कर महानगर कांग्रेस को आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ रहा है।

महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचन्द शर्मा के नेतृत्व में आन्दोलनरत कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मांग की कि पर्यावरण मित्रों को पांच-पांच हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाय। महानगर के नये वार्डों में सफाई कर्मचारी बढ़ाये जांय तथा घर-घर कूडा उठान का काम शुरू करवाया जाय।

इसे भी पढ़ सकते हैं :-आकाश इंस्टीट्यूट ने ’पढाई हमारी जारी है’ नामक नया अभियान शुरू किया

नये वार्डों में स्ट्रीट लाईटों की लाइने बिछाई जाय। कांग्रेसजनों ने महानगर की अन्य समस्याओं के प्रति भी सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए महानगर में स्ट्रीट लाईट व्यवस्था सुचारू किये जाने, मानसून से पहले शहर की सड़कों में पडे गड्डों को ठीक करवाये जाने तथा नालों की सफाई के साथ ही सैनेटाईजर हेतु टैंकरों की संख्या बढ़ाये जाने तथा सफाई व्यवस्था दुरूस्त करवाये जाने की भी मांग की।

इस अवसर पर धरना देने वालों में पूर्व विधायक राजकुमार, प्रदेश महामंत्री गोदावरी थापली, पूर्व मंत्री अजय सिंह, प्रदीप जोशी, महानगर महिला अध्यक्ष कमलेश रमन, मीना रावत, पार्षद कोमल बोरा, अर्जुन सोनकर, नीनू सहगल, सचिन थापा, सोमेन्द्र बोरा, एहतात खान, सागर लाम्बा, इलियास अंसारी, आनन्द त्यागी, अनूप कपूर, नीरज नेगी, अरूण शर्मा, जाहिद अंसारी, तौफिक खान, प्रदेश सचिव कमरखान, अनिल बसनेत, राजेन्द्र धवन, सूरज राणा, गोपाल क्षेत्री, नागेश रतूड़ी, सुनील बांगा, गौतम सोनकर, राजेश चमोली, लाखीराम बिजलवाण, अविनाश मणि त्रिपाठी, अनुराधा तिवारी, राजेन्द्र चाौहान, नवीन जायसवाल, राजू बहुगुणा, सुनेन्द्र बोरा आदि कांग्रेसजन उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ सकते हैं :-105 आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों को सुपरवाइजर बनाया जाएगा:रेखा आर्या

LEAVE A REPLY