नंदा देवी: लापता 5 पर्वतारोहियों के शव दिखे

0
6380

बाकी के बचने की उम्मीद कम

उत्तराखंड: वायु सेना की एक टीम ने सोमवार को उत्तराखंड में नंदा देवी चोटी के नजदीक पांच लापता पर्वतारोहियों का शव देखा है। पिथौरागढ़ में 25 मई को 8 पर्वतारोही लापता हो गए थे। राहतकर्मियों ने हालांकि, बेस कैम्प के पास फंसे 4 अन्य पर्वतारोहियों को बचा लिया था। बचाव अभियान में जुटे दल ने वायुसेना के हेलिकॉप्टर में बचाए गए पर्वतारोहियों में से एक मार्क थॉमस को साथ लेकर सर्च अभियान चलाया। थॉमस ने दावा किया कि उन्हें वहां कुछ शव दिखाई दिए हैं। इससे लापता पर्वतारोहियों के अब जिंदा लौटने की उम्मीद बहुत कम लग रही है।

अब लापता लोगों के शव को वापस लाने के किए जा रहे प्रयास

अभी तक मिली जानकारी के अनुसार, भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर में आज थॉमस को उसी जगह पर ले जाया गया। मार्क ने कुछ तस्वीरें लीं और उनमें पर्वतारोहियों के पीठ पर लटकने वाले बैग जैसा कुछ देखा। खराब मौसम के कारण तस्वीरें काफी स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन जो भी तस्वीरें ली गई हैं उनका सूक्ष्म निरीक्षण किया जा रहा है।

मार्क ने बताया कि आज ली गईं तस्वीरों का क्लोजअप देखने से 5 शव नजर आ रहे हैं। अभी ऐसा लग रहा है कि रात को पर्वतारोहियों ने जहां कैंप किया था, उससे कुछ दूरी पर ही पर्वतारोहियों की टीम बर्फीले तूफान में फंस गई। लापता पर्वतारोहियों के शव को सुरक्षित लाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

आईटीबीपी और भारतीय वायु सेना की ली जा रही है मदद

जिन पर्वतारोहियों का अब तक पता नहीं चल पाया है उनमें 7 विदेशी और एक भारतीय हैं। तलाशी अभियान में आईटीबीपी और भारतीय वायु सेना की मदद ली जा रही है। बता दें कि रविवार को पिथौरागढ़ जिले के मैजिस्ट्रेट वी.के.जोगडांडे ने बताया कि 4 पर्वतारोहियों को बेस कैम्प से 21 किलोमीटर दूर तब पाया गया जब 8 लापता पर्वतारोहियों को ढूंढने के लिए हेलिकॉप्टर भेजा गया था।

इस टीम का नेतृत्व ब्रिटेन के जाने-माने पर्वतारोही मार्टिन मोरान कर रहे हैं। जोगडांडे ने बताया कि मोरान की टीम की तालश में रविवार को दो बार चॉपर भेजा गया। उनकी तलाश के लिए सोमवार को भी चॉपर भेजे जाएंगे। बचाए गए पर्वतारोहियों में इयान वेड, मार्क थॉमस, कैथरीन आर्मस्ट्रॉन्ग और जाचरी क्वैन हैं।

LEAVE A REPLY