रैमजे इंटर कालेज : नियुक्ति प्रक्रिया में बबाल, हुआ हंगामा

284
video

रैमजे इंटर कालेज की नियुक्ति प्रक्रिया में बबाल, हुआ हंगामा

अल्मोड़ा: रैमजे इंटर कॉलेज में चल रही शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया को असंवैधानिक बताते हुए युवा जन संघर्ष मंच ने शुक्रवार को विद्यालय में हंगामा किया। नियुक्ति प्रक्रियो को रद्द की मांग करते हुए Ramsay inter college almora के प्रबंधन के खिलाफ नारे लगाए।

रैमजे इंटर कॉलेज ramje inter college में विभिन्न शिक्षकों के पदों के लिए शुक्रवार को इंटरव्यू कराए जाने तय थे।

युवा जन संघर्ष मंच को जब इसकी भनक लगी तो मंच के संयोजक मनोज सिंह बिष्ट (भय्यू ) के नेतृत्व में दर्जनों लोग विद्यालय में पहुंच गए। और नियुक्तियों को असंवैधानिक बताते हुए तुरंत रद्​द करने की मांग की।

रैमजे इंटर कालेज प्रधानाचार्य व प्रबंधक कमेटी के साथ मंच के सदस्यों की नोकझोक

इस दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य व प्रबंधक कमेटी के साथ मंच के सदस्यों की तीखी नोकझोक भी हुई।

हंगामा बढ़ता  देख विद्यालय में पुलिस भी बुला ली गई। लेकिन मंच के लोग अपनी मांग पर अडे़ रहे।

मंच के संयोजक मनोज बिष्ट ने कहा कि युवाओं का उत्पीड़न किया गया तो मंच आंदोलन करेगा।

उन्होंने कहा कि नियुक्तियों को पारदर्शिता व नियमों के अनुसार ही कराई जाए।

घंटो बहस के बाद मंच के सदस्यो की मांग पर विद्यालय के मैनेजमेंट कमेटी को नियुक्तियों के साक्षात्कार को स्थगित करने के आदेश जारी करने पड़े।

प्रधानाचार्य वीटी विलसन ने बताया कि नियुक्तियों में तकनीकि समस्या आने के कारण साक्षात्कार को स्थगित कर दिया गया है। तब जाकर मामला शांत हुआ।

विरोध प्रदर्शन में पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अक्षित पांडे, भरत भूषन, अशोक सिंह, राहूल बिष्ट, अभिषेक, बनौला, छात्र संघ उपसचिव करिश्मा तिवारी, उमेश बिष्ट, भूपेंद्र भोज, वैभव जोशी, हिमांश कनवाल, लक्की पवार, पारस पवार, गिरीश पांडे, विकास पवार, यश बोरा, आशुतोष पवार, गौरव भंडारी, कमल कोरंगा, हरेंद्र कुमार, सागर बिष्ट, मनीष डांगी आदि मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज दोषियों पर कार्रवाई की मांग ramje inter college

अल्मोड़ा:- युवा जन संघर्ष मंच ने रैमजे इंटर कॉलेज की मैनेजमेंट कमेटी पर असंवैधानिक तरीके से विद्यालय में नियुक्ति प्रक्रिया को करने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज इसकी जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में कहा गया है कि अल्मोड़ा के रैमजे इंटर कालेज में अध्यापकों की नियुक्ति के लिए प्रधानाचार्य की ओर से 24 नवंबर को विज्ञप्ति निकाली गई।

जिसके साक्षात्कार 6 व 7 जनवरी 2023 को निर्धारित किए गए थे।

कहा कि वर्तमान में सरकार ने अशासकीय विद्यालयों व अल्प संख्यक विद्यालयों की रिक्त पदों पर रोक लगाई गई हैं।

लेकिन रैमजे इंटर कॉलेज अल्मोड़ा में सहायक अध्यापक एलटी ग्रेड संस्कृत, उर्दू ,कला सामान्य विषय के एक-एक पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया की जा रही है।

पूरे राज्य में नियुक्ति पर रोक के बावजूद रैमजे इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य व प्रबंधक द्वारा नियुक्ति प्रक्रिया किस आदेश के तहत की जा रही है यह स्पष्ट नहीं है।

जिला स्तर पर मुख्य शिक्षा अधिकारी के अनुमोदन व आदेश पर ही नियुक्ति होनी चाहिए। लेकिन सीईओ की ओर से भी इस प्रक्रिया का संज्ञान न लिया जाना संदिग्ध प्रतीत होता है।

इससे यह साफ प्रतीत होता है कि विद्यालय प्रशासन किसी धांधली में लिप्त है।

धाराएं 29, 30, 31, 32 तथा 33 के तहत प्रबंधक तथा चयन समिति को दो सप्ताह पूर्व चयन का स्थान, समय तथा दिनांक रजिस्टर्ड डाक से अभ्यर्थी को देना होता है।

लेकिन इस सन्दर्भ में कार्यवाही 3 दिन पूर्व ही की गई।

मंच के संयोजक मनोज बिष्ट ने इस पूरे प्रकरण की जाँच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

वही कार्रवाई न होने पर उग्र आंदोलन करने की घोषणा की है।

Leave a Reply