Bomb Threat: ईरानी विमान में बम की सूचना से भारत में मचा था हड़कंप

2

Bomb Threat:  ईरान से चीन जा रहे एक विमान में बम की सूचना से आज सुबह हड़कंप मच गया। यह विमान दिल्ली के एयरस्पेस की ओर बढ़ रहा था, तभी एयरलाइंस की ओर से इसमें बम होने का अलर्ट मिला। विमान को तत्काल दिल्ली में उतारने की इजाजत मांगी गई। दिल्ली एटीसी ने उसे जयपुर एयरपोर्ट पर उतरने को कहा। इसी बीच, भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान इसके पीछे लगा दिए गए। इस पूरे मामले को लेकर ईरान की महान एयरलाइंस ने बयान जारी कर स्थिति स्पष्ट की है।

By Elections: छह राज्यों की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा

ईरान की महान एयरलाइंस की एयरबस 340N दिल्ली में नहीं रुकती है। यह ईरान, पाकिस्तान व भारत के हवाई क्षेत्र से होते हुए चीन जाती है। जैसे ही एयरलाइंस को विमान में बम होने की सूचना मिली तो उसके पायलट को दिल्ली में उतरने की सलाह दी गई। दिल्ली में जब इजाजत नहीं मिली तो पायलट उसे लेकर चीन के हवाई क्षेत्र की ओर बढ़ गया। इस दौरान भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने उसकी सुरक्षित ढंग से निगरानी की। यह विमान तेहरान से चीन के ग्वांगझू जा रहा था।

बम की सूचना (Bomb Threat) को लेकर महान एयर ने दिल्ली हवाई अड्डे के एटीसी से संपर्क किया था, पर दिल्ली एटीसी ने विमान को जयपुर या चंडीगढ़ में उतरने का सुझाव दिया। यह सलाह विमान के पायलट ने नहीं मानी और अपनी एयरलाइंस की सलाह से विमान को चीन की ओर मोड़ते हुए भारतीय हवाई क्षेत्र छोड़ दिया।

दिल्ली में उतारने की अनुमति नहीं दी गई

इधर, विमान में बम की सूचना मिलते ही भारतीय सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई थीं। तत्काल भारतीय वायुसेना को अलर्ट किया गया। वायुसेना ने पंजाब और जोधपुर एयरबेस से दो सुखोई विमान ईरानी विमान के पीछे लगा दिए थे। हालांकि, इसके बाद विमान में बम होने की पुष्टि नहीं हुई और विमान चीन की ओर चला गया।

45 मिनट भारतीय हवाई क्षेत्र में रहा

ईरानी विमान करीब 45 मिनट तक भारतीय हवाई सीमा में रहा। इस दौरान पूरे समय हड़कंप की स्थिति रही। इस पूरे मामले को लेकर ईरान की महान एयरलाइंस ने बयान जारी किया है।एयरलाइंस ने कहा कि भारत के ऊपर उड़ान के दौरान बम की धमकी मिली थी, इसलिए आपातकालीन लैंडिंग का अनुरोध किया गया था। कंपनी का यह यात्री विमान एयरबस 340N तेहरान से चीन के ग्वांगझू जा रहा था।

ग्वांगझू में सुरक्षित रूप से उतरा विमान

महान एयरलाइंस ने कहा कि जैसे ही पायलट को उड़ान के दौरान बम होने के बारे में सूचित किया जाता है, वह निकट के एटीसी को सूचित करता है और सूचना और उड़ान की पूरी पड़ताल करता है। इसके बाद विमान के संचालन आदि के बारे में फैसला किया जाता है। सुरक्षा से समझौता नहीं करने व मौजूदा अंतरराष्ट्रीय और आंतरिक परिस्थितियों को देखते हुए आपातकालीन लैंडिंग की सलाह दी गई थी। एयरलाइंस अपने उच्च सुरक्षा मूल्यों के प्रति वचनबद्ध है। ये उड़ान की सुरक्षा बनाए रखने और यात्रियों को सेवाएं प्रदान करने के लिए हैं। एयरलाइंस के अनुसार यह फ्लाइट चीन के ग्वांगझू में तय समय पर सुरक्षित रूप से उतर गई।

Indian Air Force में शामिल हुए हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर ‘प्रचंड’

Leave a Reply