Sponsored
loading...

Share Market: दिसंबर 2016 के बाद पहली बार 8,000 से नीचे Nifty, Sensex 8,00 अंक टूटा

0
80

नई दिल्ली। स्टॉक मार्केट आज गुरुवार को भारी गिरावट के साथ खुले हैं और शुरुआती कारोबार में भी भारी गिरावट देखने को मिल रही है। बीएसई का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स आज 1,096.15 अंक की गिरावट के साथ 27,773.36 पर खुला है। खबर लिखे जाने तक यह न्यूनतम 27,050.90 अंक तक गया। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी आज 405.50 अंक की भारी गिरावट के साथ 8,063.30 पर खुला है। खबर लिखते समय तक यह न्यूनतम 7,937.05 अंक तक गया।

सेंसेक्स गुरुवार सुबह 9 बजकर 25 मिनट पर शुरुआती कारोबार में 7.17 फीसद या 2068.83 अंक की गिरावट के साथ 36,800.64 पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी 6.9 फीसद या 584.15 अंक की गिरावट के साथ 7,884.65 पर कारोबार कर रहा था। इस समय पर निफ्टी-50 के सिर्फ दो शेयर हरे निशान पर और 48 शेयर लाल निशान पर थे। निफ्टी 27 दिसंबर 2016 के बाद पहली बार 8,000 से नीचे आया है।

ये हैं बाजार में गिरावट के प्रमुख कारण

1. चीन के बाहर कई देशों में कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामलों के कारण वैश्विक मंदी की आशंका तेजी से बढ़ी है। हालांकि अमेरिका सहित कई देशों ने अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए राहत पैकेज का ऐलान किया, लेकिय यह निवेशकों को रोकने के लिए नाकाफी साबित हुआ है।

2. विदेशी निवेशक भी भारतीय बाजार से लगातार अपना पैसा निकाल रहे हैं, जिससे भी शेयर बाजार में मंदी आ रही है। गौरतलब है कि विदेशी निवेशक इस महीने 38,188 करोड़ रुपए के शेयर बेच चुके हैं।

3. भारतीय शेयर बाजारों में मंदी का एक कारण एजीआर भी रहा है। एजीआर के मामले में दूरसंचार कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिली, जिससे बाजार पर नकारात्मक असर पड़ा।

4. भारत में पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के कारण निवेशकों में अपने निवेश को लेकर चिंता बढ़ गई है, जिस कारण बाजार में बिकवाली हो रही है।

5. वैश्विक शेयर बाजारों में बुधवार को आई जबरदस्त गिरावट का बेहद नकारात्मक प्रभाव भारतीय शेयर बाजारों पर देखने को मिल रहा है। कोरोना के प्रकोप के चलते बुधवार को डाऊ जोंस 20,000 के नीचे आ आ गया। वहीं नैस्डैक भी 4.70 फीसद गिरकर 6989 के स्तर पर आ गया। एसएंडपी 500 5.18 फीसद लुढ़क कर 2398 के स्तर पर आ गया।

यह है निवेश का सही समय

सीएनआई रिसर्च के सीएमडी किशोर ओसवाल ने कहा, ‘बाजार अपने निचले स्तर पर है। डाऊ जोंस ने 18,900 का स्तर छुआ है और यह 17,400 से नीचे नहीं जाएगा। इस तरह डाऊ ज्यादा गिरा तो यह अभी 1500 अंक और गिर सकता है। वहीं, निफ्टी ने 7,816 का निचला स्तर छुआ है। मेरा मानना है कि यह अब केवल 600 अंक और नीचे जा सकता है। आप खरीदें या नहीं खरीदें, लेकिन मेरा विश्वास है कि निफ्टी 9500-10000 तक जाएगा। अगर आप लॉन्ग टर्म इन्वेस्टर हैं, तो यह साहस दिखाने का समय है, इसलिए निवेश करें। सरकार की घोषणाओं और कोरोना का प्रकोप कम होने पर विदेशी निवेशकों के लौटने से बाजार को स्थिर होने और तेजी दिखाने का मौका मिलेगा। इक्विटी का मतलब ही रिस्क है और आप इक्विटी बाजार में हैं, तो आपको रिस्क लेना चाहिए।

रिकॉर्ड निचले स्तर पर खुला रुपया

भारतीय रुपया आज गुरुवार को रिकॉर्ड निचले स्तर पर खुला है। यह आज 69 पैसे की जबरदस्त गिरावट के साथ एक डॉलर के मुकाबले 74.95 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर खुला है। गौरतलब है कि रुपया बुधवार को 74.26 के स्तर पर बंद हुआ था।

 

loading...

LEAVE A REPLY