Uttrakhand Omicron: राज्य में हर दूसरे संक्रमित में ओमिक्रॉन के लक्षण

देहरादून: Uttrakhand Omicron उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित हर दूसरे व्यक्ति में ओमिक्रॉन के लक्षण मिले हैं। राजकीय दून मेडिकल कॉलेज के कोविड सैंपलों की जीनोम सिक्वेसिंग रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। मेडिकल कॉलेज ने 159 सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग जांच में 54 प्रतिशत सैंपलों में ओमिक्रॉन की पुष्टि की हुई है। लेकिन कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट डेल्टा की तुलना में कम घातक साबित हो रहा है।

Uttaraakhand chunaav 2022: हरक सिंह ज्वाइन कर सकते हैं कांग्रेस

15 प्रतिशत सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा ने बताया कि पूरे प्रदेश से 2255 कोविड संक्रमित सैंपलों को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए दून मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला को भेजे गए। इसके सापेक्ष 159 सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट मिली है। इसमें 85 सैंपलों में ओमिक्रॉन वैरिएंट पाया गया। प्रदेश में जितने भी सैंपल कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। उनमें लगभग 15 प्रतिशत सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग की जा रही है।

महानिदेशक ने कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमण का फैलाव तेजी से हो रहा है। जिससे संक्रमित मामले बढ़ रहे हैं। ओमिक्रॉन का प्रभाव ज्यादा घातक नहीं है। अधिकतर लोग होम आइसोलेशन में रह कर ठीक हो रहे हैं। पहले से किसी अन्य बीमारी से ग्रसित व्यक्ति में संक्रमण पाए जाने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती करना पड़ रहा है लेकिन ओमिक्रॉन से घबराने की आवश्यकता नहीं है।

संक्रमण से बचाव के लिए सतर्क रहना है। सभी लोगों को कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन अनिवार्य रूप से करना है। मास्क पहनने के साथ ही सार्वजनिक और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें।

Uttrakhand Omicron: वैरिएंट – सैंपलों की संख्या

डेल्टा बी.1.617.2 – 09
डेल्टा सब लाइनेज एवाई सीरीज – 44
ओमिक्रॉन – 85

किस जिले में कितने संक्रमित

जिला – ओमिक्रॉन
देहरादून – 49
पौड़ी – 06
हरिद्वार – 14
नैनीताल – 07
ऊधमसिंह नगर – 05
पिथौरागढ़ – 01
दिल्ली – 02
अन्य – 01
कुल – 85

Uttrakhand Omicron: साथ बढ़ रहा जान जाने का आंकड़ा

प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। बीते सप्ताह की तुलना में चार गुणा संक्रमित बढ़े हैं। सात दिन में संक्रमितों का आंकड़ा 17800 रहा है। जबकि 17 मरीजों की मौत हुई है। संक्रमण के साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ा है।

सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन ने स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के आधार पर कोरोना संक्रमण की साप्ताहिक रिपोर्ट जारी की है। प्रदेश में कोरोना काल को 672 दिन यानी 96 सप्ताह हो गए हैं। कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमण ने फिर से रफ्तार पकड़ी है। जहां 95 वें सप्ताह 2 से 8 जनवरी तक प्रदेश में कुल 4267 संक्रमित मामले मिले थे और चार मरीजों की मौत हुई थी। इसकी तुलना में 96वें सप्ताह में चार गुणा ज्यादा 17800 संक्रमित मामले और 17 मरीजों की मौत हुई है। वहीं संक्रमण दर भी 10.51 प्रतिशत पहुंच गई है। कोरोना की दूसरी लहर के शुरूआत में भी संक्रमण दर 13.87 प्रतिशत थी।

फाउंडेशन के अध्यक्ष अनूप नौटियाल का कहना है कि चुनाव के बीच कोरोना संक्रमण को लेकर सतर्क और एहतियात बरतने की आवश्यकता है। पिछले सप्ताह की तुलना में प्रदेश में सात दिन में चार गुणा की रफ्तार से संक्रमित मामले बढ़े हैं। संक्रमण के साथ मौत का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग को टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

Election commission: ने आगे बढ़ाई गई पंजाब विधानसभा के चुनाव की तारीख

Leave a Reply