Weather Today : उत्तर पश्चिम भारत को 19 जनवरी से मिलेगी राहत

17

नई दिल्ली। Weather Today :  उत्तर और उत्तर पश्चिम भारत में सोमवार को कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी रहा। देश के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान एक से तीन डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया है। वहीं, मैदानी इलाकों में हिमालय से आने वाली बर्फीली उत्तर-पश्चिमी हवाओं के साथ अगले दो दिनों में इस क्षेत्र में और भी अधिक ठंड पड़ने की संभावना है।

Daroga Bharti 2015 : 2015 में भर्ती 20 दरोगाओं पर गिरी गाज

19 जनवरी से समाप्त हो जाएगी शीत लहर की स्थिति

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि दो पश्चिमी विक्षोभ के कारण 19 जनवरी से शीतलहर की स्थिति समाप्त हो जाएगी। जिससे उत्तर भारत के कई क्षेत्रों को राहत मिलेगी। आईएमडी ने एक बयान में कहा कि दिल्ली के कई हिस्सों और पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में शीतलहर से लेकर गंभीर शीत लहर की स्थिति बनी हुई है।

क्या बोले वैज्ञानिक आरके जेनामणि

भारत मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिक आरके जेनामणि ने बताया कि दिल्ली में भीषण शीतलहर की स्थिति के साथ राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है। अगले 2 दिनों तक तापमान इसी तरह बना रह सकता है, आगे और गिरावट की संभावना नहीं है। 18 जनवरी से तापमान बढ़ सकता है।

उत्तर भारत के कई शहरों में गिरा पारा (Weather Today)

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली, उत्तर-पश्चिम और पूर्वी राजस्थान के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान एक से तीन डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं, राजस्थान के शेष हिस्सों में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके अलावा थार रेगिस्तान के पास स्थित चूरू में न्यूनतम तापमान शून्य से 2.5 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है, जो सोमवार को मैदानी इलाकों में सबसे कम था।

दिल्ली में लुढ़का तापमान

बता दें कि दिल्ली के सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस तक गिरा है, जो 1 जनवरी 2021 के बाद से सबसे कम है। वहीं, लोधी रोड पर 1.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इसके अलावा दक्षिण पश्चिम दिल्ली के आयानगर में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री सेल्सियस, मध्य दिल्ली के रिज में दो डिग्री सेल्सियस और पश्चिमी दिल्ली के जाफरपुर में 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

IMD ने क्या कहा

आईएमडी ने कहा कि 17 जनवरी तक उत्तर पश्चिम भारत के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में लगभग 2 डिग्री सेल्सियस की और गिरावट आने की संभावना है। इसमें कहा गया है कि दो ताजा पश्चिमी विक्षोभों के प्रभाव में 18 जनवरी से 20 जनवरी तक न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी। वहीं, IMD ने बताया कि मैदानी इलाकों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस और सामान्य से 4.5 डिग्री नीचे रहने पर शीतलहर घोषित की जाती है। बता दें कि एक गंभीर शीत लहर तब होती है, जब न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है या सामान्य सीमा से प्रस्थान 6.4 डिग्री से अधिक होता है।

BJP National Executive Meeting : दिल्ली में भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

Leave a Reply