India Canada : निज्जर की हत्या का आरोप भारत पर लगाकर घर में ही फंसे ट्रूडो

203

India Canada :  खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या का आरोप भारत पर लगाकर कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो अपने घर में ही फंस गए हैं। दरअसल अब कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के प्रीमियर ने जस्टिन ट्रूडो से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि अगर ट्रूडो के पास निज्जर की हत्या को लेकर खुफिया सूचना थी तो उन्हें ब्रिटिश कोलंबिया की सरकार के साथ इसे साझा करना चाहिए था। बता दें कि हरदीप सिंह निज्जर की हत्या ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत में ही हुई थी। ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के प्रीमियर डेविड एबी ने सोमवार को प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से मुलाकात भी की।

Dhami in London : लंदन में सीएम धामी के स्वागत में भव्य रंगारंग कार्यक्रम आयोजित

ब्रिटिश कोलंबिया प्रीमियर ने जताई नाराजगी

बता दें कि बीते जून में खालिस्तानी चरमपंथी हरदीप सिंह निज्जर की एक गुरुद्वारे की पार्किंग में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बीते दिनों कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने इसका हत्या की साजिश में भारत के शामिल होने का आरोप लगाया था। ट्रूडो के इन आरोपों को भारत ने बेतुका बताकर खारिज कर दिया है। वहीं इस विवाद के चलते भारत और कनाडा के रिश्तों में तनाव आ गया है। अब ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के प्रीमियर डेविड एबी ने मीडिया से बात करते हुए जस्टिन ट्रूडो द्वारा संसद में दिए बयान पर यह कहकर आपत्ति जताई है कि राज्य सरकार के साथ खुफिया सूचना पहले साझा की जानी चाहिए थी।

क्या बोले डेविड एबी (India Canada)

डेविड एबी ने कहा कि कानून के मुताबिक ‘कनाडिएन सिक्योरिटी इंटेलीजेंस सर्विस को संघीय सरकार के साथ खुफिया सूचना साझा करनी होती है। मुझे जो बताया गया, वो सारी बातें पब्लिक डोमेन में भी थी, जिससे कोई फायदा नहीं होगा। इससे अच्छा तो मैं अखबार पढ़ लेता। संघीय सरकार को विदेशी हस्तक्षेप या अंतरदेशीय संगठित अपराध की खुफिया सूचनाएं प्रांतीय सरकारों के साथ भी साझा करनी चाहिए ताकि हम उन लोगों की सुरक्षा के लिए कदम उठा सकें, जिन्हें खतरा है।’

डेविड एबी ने कहा कि पीएम ट्रूडो के आरोपों को सुनकर वह नाराज हैं। बता दें कि बीते दिनों जब खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नूं ने वीडियो जारी कर कनाडा में रहने वाले हिंदू समुदाय को धमकी दी थी तो तब भी डेविड एबी ने हिंदू समुदाय का समर्थन किया था। कनाडा का विपक्ष भी जस्टिन ट्रूडो से भारत पर लगाए आरोपों के सबूत मांग चुका है लेकिन अभी तक ट्रूडो कुछ तथ्य पेश नहीं कर पाए हैं।

Lakhimpur Kheri case : आशीष मिश्रा को सुप्रीम कोर्ट से शर्त के साथ मिली जमानत

Leave a Reply