सिद्धू की बढ़ीं मुश्किलें, 18 मंत्रियों ने खोला मोर्चा

0
414

चंडीगढ़:कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को अपना ‘कैप्‍टन’ बताकर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर तंज कसने वाले पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ राज्य के 18 मंत्रियों ने मोर्चा खोल दिया है। पंजाब के इन मंत्रियों की मांग है कि सिद्धू सीएम से माफी मांगें। वहीं सिद्धू अमरिंदर से माफी मांगने के मूड में नहीं दिख रहे हैं।

आज शाम पंजाब सरकार की कैबिनेट बैठक भी होने जा रही है। माना जा रहा है कि कैप्‍टन के वफादार मंत्री बैठक में सिद्धू का मुद्दा उठा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक ये सभी मंत्री सिद्धू के माफी न मांगने पर उनपर इस्तीफे का दबाव बनाने के लिए कैबिनेट में प्रस्ताव लाने की तैयारी कर रहे हैं। इस बीच, ऐसी भी खबरें हैं कि सिद्धू इस बैठक में शामिल नहीं होंगे।

सिद्धू ने हैदराबाद में अमरिंदर का उस वक्त मजाक उड़ाया था जब पत्रकारों ने उनसे करतारपुर गलियारे के शिलान्यास समारोह में शिरकत को लेकर हुई उनकी पाकिस्तान यात्रा के बारे में पूछा था। सिद्धू ने कहा था, ‘राहुल गांधी मेरे कैप्टन हैं। उन्होंने मुझे पाकिस्तान भेजा। राहुल गांधी कैप्टन (अमरिंदर) के भी कैप्टन हैं।’ इस बयान के बाद से सिद्धू अमरिंदर के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस नेताओं के निशाने पर हैं।

मंत्रियों ने खोला सिद्धू के खिलाफ मोर्चा

पंजाब के मंत्री तृप्‍त रजिंदर सिंह बाजवा ने सिद्धू से कहा कि वह या तो इस्‍तीफा दें या माफी मांगें। इस बीच खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह ने कहा, ‘मेरे कैबिनेट के ज्‍यादातर साथी चाहेंगे कि इस मुद्दे पर सोमवार को होने वाली कैबिनेट की बैठक में चर्चा हो। विशेषकर इसलिए कि इसने लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी को कमजोर किया है।’ राज्‍य के एक अन्‍य मंत्री ने कहा, ‘अमरिंदर सिंह के ज्‍यादातर वफादार मंत्री इस मुद्दे को कैबिनेट में उठाने के लिए उत्‍सुक हैं।’ रविवार को पंजाब सरकार में मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने भी कहा था, ‘मैं यह सुनकर थोड़ा नाराज हूं (नवजोत सिंह सिद्धू का बयान), बिल्‍कुल राहुल गांधी हमारे इंडियन कैप्टन हैं लेकिन सिद्धू यह भूल गए कि अमरिंदरजी हमारे सीएम हैं। उन्हें सम्मान करना चाहिए, यह कपिल शर्मा का शो नहीं है।’

LEAVE A REPLY